ऋषि कपूर की जीवनी: प्रारंभिक जीवन, बीमारी, मौत, परिवार, फिल्म कैरियर, Famous Dialogues और पुरस्कार

ऋषि कपूर की जीवनी: प्रारंभिक जीवन, बीमारी, मौत, परिवार, फिल्म कैरियर, Famous Dialogues और पुरस्कार

ऋषि राज कपूर का जन्म 4 सितंबर, 1952 को बॉम्बे (अब मुंबई) में हुआ था और एक साल तक कैंसर से जूझने के बाद 67 साल की उम्र में 30 अप्रैल, 2020 को उनका निधन हो गया।
ऋषि- कपूर- की- जीवनी: प्रारंभिक- जीवन-, बीमारी,- मौत,- परिवार-, फिल्म- कैरियर-, Famous- Dialogues- और -पुरस्कारऋषि कपूर (4 सितंबर 1952 - 30 अप्रैल 2020) एक भारतीय अभिनेता थे, जिन्हें हिंदी सिनेमा में उनके काम के लिए जाना जाता था। उन्होंने अपने पिता राज कपूर की 1970 की फ़िल्म मेरा नाम जोकर में अपनी पहली भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार का राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार प्राप्त किया। किशोर रोमांस बॉबी (1973) में, डिंपल कपाड़िया के विपरीत, एक वयस्क के रूप में उनकी पहली मुख्य भूमिका थी, जिसने उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार जीता था।

उन्होंने 1973 से 2000 के बीच 92 फिल्मों में रोमांटिक लीड के रूप में प्रमुख भूमिकाएँ निभाईं। इस अवधि के दौरान उनकी कुछ उल्लेखनीय फ़िल्में खेल खिलाड़ी में (1975), कभी कभी (1976), अमर अकबर एंथोनी (1977), करज़ (1980), और चांदनी (1989)। 2000 के दशक से, उन्होंने लव आज कल (2009), अग्निपथ (2012), और मुल्क (2018) में महत्वपूर्ण प्रशंसा के लिए चरित्र भूमिकाएं निभाईं। दो दूनी चार (2010) में अपने प्रदर्शन के लिए, उन्होंने सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए फिल्मफेयर क्रिटिक्स अवार्ड जीता, और कपूर एंड संस (2016) में अपनी भूमिका के लिए, उन्होंने सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार जीता। उन्हें 2008 में फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया था। उनकी अंतिम फिल्म द बॉडी (2019) में प्रदर्शित हुई थी।
यह भी पढे-Earth Day 2020: जानें पृथ्वी दिवस का थीम, इसका इतिहास तथा इस दिन क्या करना चाहिये
कपूर अक्सर अपनी पत्नी, अभिनेत्री नीतू सिंह के साथ सहयोग करते थे, जिनके साथ उनके दो बच्चे थे, जिनमें रणबीर कपूर भी शामिल थे। 30 अप्रैल 2020 को बोन मैरो कैंसर की जटिलताओं से उनकी मृत्यु हो गई, जिनकी आयु 67 वर्ष थी।

ऋषि कपूर: प्रारंभिक जीवन, परिवार और शिक्षा

ऋषि कपूर का जन्म बॉम्बे (अब मुंबई) में ऋषि राज कपूर के रूप में 4 सितंबर, 1952 को राज कपूर और कृष्णा राज कपूर के रूप में हुआ था। ऋषि कपूर एक पंजाबी परिवार में पैदा हुए थे और अभिनेता-निर्देशक राज कपूर के दूसरे बेटे थे। ऋषि कपूर पृथ्वीराज कपूर के पोते थे।
ऋषि कपूर ने अपनी पढ़ाई कैंपियन स्कूल, मुंबई से पूरी की और बाद में मेयो कॉलेज, अजमेर से स्नातक किया।
ऋषि कपूर के भाई, रणधीर कपूर और राजीव कपूर, चाचा प्रेम नाथ, राजेंद्र नाथ, शशि कपूर और शम्मी कपूर भारतीय सिनेमा के सभी रत्न हैं। ऋषि कपूर की दो बहनें हैं- रितु नंदा और रीमा जैन।

ऋषि कपूर: पर्सनल लाइफ

ऋषि ने अपनी किशोरावस्था में अभिनेत्री यास्मीन को डेट किया और उनसे नाता तोड़ लिया। एक वयस्क के रूप में, ऋषि कपूर को 'बॉबी' की शूटिंग के दौरान अपनी सह-अभिनेत्री नीतू सिंह से प्यार हो गया और उन्होंने अन्य अभिनेत्रियों के साथ डेट किया। ऋषि कपूर ने अभिनेत्री डिंपल कपाड़िया को भी डेट किया लेकिन उनके पिता के इनकार के बाद, उनके साथ उनका रिश्ता खत्म हो गया। ऋषि कपूर ने अपने 15 बार के सह-कलाकार नीतू सिंह से 22 जनवरी, 1980 को शादी की। इस दंपति के दो बच्चे हैं- अभिनेता रणबीर कपूर और डिजाइनर रिद्धिमा कपूर सहानी।
यह भी पढे-DGFT ने Paracetamol Formulations पर निर्यात प्रतिबंध लगा दिया
ऋषि कपूर अभिनेता शशि कपूर, जेनिफर केंडल, शम्मी कपूर, निर्देशक विजय कपूर, सुबीराज, प्रेम नाथ, विक्की कपूर और बीना राय के भतीजे हैं। वह अभिनेत्री बबीता कपूर के भाई और अभिनेत्री करीना कपूर और करिश्मा कपूर के पैतृक चाचा हैं। ऋषि कपूर अभिनेता कुणाल कपूर, करण कपूर, प्रेम किशन, जतिन सियाल, संजना कपूर, सलमा आगा और मोंटी नाथ के चचेरे भाई हैं। ऋषि कपूर अभिनेत्री राजी सिंह के दामाद हैं।

ऋषि कपूर: बीमारी और मौत

2018 में ऋषि कपूर को बोन मैरो कैंसर हुआ था। वह अपने इलाज के लिए न्यूयॉर्क गए और 2019 में एक साल बाद वापस आए।
29 अप्रैल, 2020 को, ऋषि कपूर को सांस लेने में कठिनाई हो रही थी और उन्हें मुंबई के सर एच। एन। रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल ले जाया गया। 67 वर्ष की आयु में कैंसर की सूचना के बाद 30 अप्रैल, 2020 को उनका निधन हो गया।

ऋषि कपूर: Famous Dialogues

1- हर इश्क़ का इक वक़्त हो गया है। वोह हमरा वक़्त में नहीं, तो इस्का तु मतलब नहीं है वोह इश्क नहीं है।

2- हम सनकादों जनम लेत हैं। कभी पति-पटर बैंकर, कबि प्रीति बंकर, तोह कबी अंजने बंकर। लेके मिल्ते जरूर है आखिर में। नहि मिलेंगे तोह कहति खतम कइसे होगे? इसे प्यार के तोते हैं।

3- नवाज़िश, कर्म, शुक्रिया, मेहरबानी। मुजे बख्श दीया अपना, जिंदगानी!

4- सबी इंसां इक जायस तोह होत है। वाही करो हाथ, करो पौन, आंखें, कान, चेहरा। सबके इक जायसे तोह होते हैं। फ़िर क्यूँ कोइ एक, सिरफ़ एकै होत है, जो इतना पियारा लगत है, अगर हमको जान से प्यार हो गया, तोह जल्दबाजी दी जा सकी है।

5- दुनीया के सीताम याड, ना आपणी हाय वफा यद। अब कु छ न न मुजको मुहब्बत के सिवा याह।

6- शरब पेने दे मस्जिद में बाथकर, ग़ालिब, ये वो जग दीखा दे जान ख़ुदा न हो।
यह भी पढे-YouTube कोरोनावायरस महामारी के दौरान अमेरिकी वीडियो खोजों के लिए तथ्य-जांच सुविधा का विस्तार कर रहा है
7- मोहब्बत रीत रवाज़ न मन्ती, और न वोह लफ़्ज़ो का मोहताज है।

-बेखबर सोई है वो लुट के वोह नेंदीन मेरि, जज़्बा-ए-दिल पे तरस खाए कौन जीता है। काबसे खामोश हू हो जाने क्या कुच बोलो, क्या अब और सीताम धने को जी चाहता है?

9- जाने से पेहले, एक अँखरी बर मिलन कउन झरोरी होत हे?

1०- ये मुल्क तोह मेरी माँ है, और मुंबई शेखर मेरी मशूका

ऋषि कपूर: पुरस्कार

1- 1970 में - बंगाल फिल्म जर्नलिस्ट एसोसिएशन अवार्ड्स: विशेष पुरस्कार और फिल्म मेरा नाम जोकर के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार।

2- 1974 में - फिल्म बॉबी के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का फिल्मफेयर पुरस्कार।

3- 2008 में - फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड।

4- 2009 में - सिनेमा में योगदान के लिए रूसी सरकार द्वारा सम्मानित।

5- 2010 में - अप्सरा फिल्म एंड टेलीविज़न प्रोड्यूसर्स गिल्ड अवार्ड्स: फिल्म लव आज कल के लिए सहायक भूमिका में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता।

6- 2011 में - जी सिने अवार्ड्स: नीतू सिंह के साथ बेस्ट लाइफटाइम जोड़ी।

7- 2011 में - फिल्म दो दूनी चार के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का फिल्मफेयर क्रिटिक्स अवार्ड।

8- 2013 - टाइम्स ऑफ इंडिया फिल्म अवार्ड्स (TOIFA), अग्निपथ के लिए एक नकारात्मक भूमिका में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता।

9- 2016 में - स्क्रीन लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड।

10- 2017 में - फिल्म कपूर एंड संस के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का स्क्रीन अवार्ड।

11- 2017 में - फिल्म कपूर एंड संस के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का फिल्मफेयर पुरस्कार।

12- 2017 में - फिल्म कपूर एंड संस के लिए सहायक भूमिका 'पुरुष' में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का ज़ी सिने पुरस्कार।

13- 2017 में - फिल्म कपूर एंड संस के लिए कॉमिक रोल में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का ज़ी सिने अवार्ड।

ऋषि कपूर: फ़िल्में

1955-- श्री 420 (गीत "प्यार हुआ इकरार हुआ" में दिखाई दिया)

1970-- मेरा नाम जोकर (युवा राजू)

1973-- बॉबी (राजा)

1974-- ज़हेरेला इन्सां (अर्जुन सिंह)

1975-- ज़िंदा दिल (अरुण शर्मा)

1975 - रज़ा (दोहरी भूमिका; रज़ा और इंस्पेक्टर राम)

1975-- रफू चक्कर (देव)

1975-- खेल खिलाड़ी में (अजय)

1976-- रंगीला रतन (रतन)

1976-- लैला मजनू (मजनू / क़ैस अल अमरी)

1976-- गिन्नी और जॉनी (विशेष उपस्थिति)

1976 - बारूद (अनूप डी। 'पप्पू' सक्सेना)

1976-- कभी कभी (विक्की)
यह भी पढे- ईरान ने अपना पहला सैन्य उपग्रह कक्षा में लॉन्च किया है: ईरान का क्रांतिकारी गार्ड कोर
1977-- हम कइसे कुम नहेन (राजेश)

1977-- डोसरा आममी (करण सक्सेना)

1977-- चल मुरारी हीरो बन्ने (ऋषि कपूर)

1977-- अमर अकबर एंथोनी (अकबर इल्हाबदी)

1978-- फूल खिले हैं गुलशन गुलशन (विशाल राय)

1978-- पाटी पाटनी और वो (गायक; "तेरे नाम" गाने में कैमियो)

1978-- नाया दौर (महेश चोपड़ा)

1978-- बदलते रिशते (मनोहर धानी)

1978-- अंजने मीन (राजा)

1979-- सरगम ​​(राजू)

1979-- सलाम मेमसाब (रमेश)

1979-- झोटा कहिन (अजय राय)

1979-- दूनिया मेरी जेब में (विशाल खन्ना)

1980-- आप के दीवाने (राम)

1980-- डू प्रीमी (चेतन प्रकाश)

1980-- धन दौलत (लकी आर। सक्सेना)

1980-- करज़ (मोंटी)

1981-- केटिलन के कातिल (मुन्ना)

1981-- नसीब (सनी)

1981-- बीवी-ओ-बीवी (विशेष उपस्थिति)

1981-- ज़माना को दीखना है (रवि नंदा)

1982-- ये वादा रहा (विक्रम राय)

1982-- दीदार-ए-यार (जावेद सईद अली खान)

1982-- प्रेम रोग (देवधर 'देव')

1983-- बडे दिल वाला (अमृत कुमार सक्सेना / विजय कुमार गुप्ता)

1983-- कुली (सनी)

1984-- दुनीया (रवि)

1984-- आन और शान (हीरो)

1984-- ये इश्क़ नहीं आना (सलीम अहमद सलीम)

1985-- तवायफ (दाऊद मोहम्मद अली खान यूसुफ ज़ही)

1985-- सीतामगर (जय कुमार)

1985-- सागर (रवि)

1985-- राही बादल गे (अमर लाल / पवन कुमार सक्सेना; दोहरी भूमिका)

1986-- नसीब अपना अपना (किशन सिंह)

1986-- दोस्त दुशमनी (प्रकाश)

1986-- नगीना (राजीव)

1986-- पाहुनचे हुवेय लॉग (विशेष उपस्थिति)

1986-- एक चादर मेल सी (मंगल)

1987-- प्यार के काबिल (अमर कपूर)

1987-- हवालात (श्याम)

1987-- खुद्गरज़ (विशेष उपस्थिति)

1987-- ख़ज़ाना (विशेष उपस्थिति)

1987-- सिंदूर (कुमार)

1988-- विजय (विक्रम भारद्वाज)

1988-- जनम जनम (सुनील / विनय)

1988-- हमरा ख़ानदान (विशाल)

1988-- घर घर की कहानी (राम धनराज)

1989-- नकाब (इमरान)

1989-- हैथीर (समीउल्ला खान)

1989-- घराना (विजय मेहरा)

1989-- चांदनी (रोहित गुप्ता)

1989-- निगाहें (राजीव)

1989-- बडे घर की बेटी (गोपाल)

1989-- ख़ोज (रवि कपूर)

1990-- शेषनाग (भोला)

1990-- शेर दिल (संजय आर। सक्सेना)

1990-- आज़ाद देश के गुलाम (विजय श्रीवास्तव)

1990-- अमीरी ग़रीबी (दीपक भारद्वाज)

1991-- घर परिवार (बिरजू)

1991-- अजूबा (हसन)

1991-- गरजना

1991-- मेंहदी (चंदर प्रकाश)

1991-- रणभूमि (भोला नाथ)

1991-- बंजारन (कुमार सिंह सिसोदिया / सूरज हरमेश मल्होत्रा)

1992-- बोल राधा बोल (किशन मल्होत्रा ​​/ टोनी)

1992-- कसाक (विजय)

1992-- इंथा प्यार की (रोहित शंकर वालिया)

1992-- हनीमून (सूरज वर्मा)

1992-- रिशता टू हो आइसा (विजय)

1992-- दीवाना (रवि)

1993-- श्रीरेमन आशिक (दुष्यंत कुमार)

1993-- साहिबान (गोपी)

1993-- साधना (करण)

1993-- गुरुदेव (देव कुमार ईलाहाबाद)

1993-- अनमोल (प्रेम)

1993-- दामिनी (शेखर गुप्ता)

1993-- धरतीपुत्र

1993-- इज्जत की रोटी (कृष्णा)

1994-- मोहब्बत की आरज़ू (राजा)

1994-- ईना मीना डीका (इंदर "ईना")

1994-- साजन का घर (अमर खन्ना)

1994-- घर की इज्जत (मोहन कुमार)

1994-- पेहला पेहला प्यार (राज)

1994-- प्रेम योग (युवराज)

1995-- साजन की बाहों में (सागर)

1995-- हम डॉनो (राजेश)

1995-- याराना (राज)

1996-- प्रेम ग्रंथ (सोमण)

1996-- दारार (राज मल्होत्रा)

1997-- कौन सच्चा कौन झूठा (करण)
यह भी पढ़े- भारतीय अर्थव्यवस्था पर कोरोनावायरस का क्या प्रभाव है? जानिए पूरे विस्तार मे
1999-- जय हिंद (गुलज़ार)

2000-- करोबार: द बिज़नेस ऑफ़ लव (अमर सक्सेना / रोहित सिन्हा)

2000-- राजू चाचा (सिद्धांत राय)

2001-- कुछ कुछ होता है (राज खन्ना)

2002-- ये है जलवा (राजेश मित्तल)

2002-- कुच टू है (बख्शी)

2003-- टाइम्स स्क्वायर पर प्यार (विशेष उपस्थिति)

2003-- तहज़ीब (अनवर जमाल)

2004-- हम तुम (अर्जुन कपूर)

2005-- प्यार में ट्विस्ट (यश खुराना)

2006-- फना (ज़ुल्फ़िकार)

2006-- लव के चक्कर में (अरमान कोचर)

2007-- डोंट स्टॉप ड्रीमिंग (ग्रूवी)

2007-- नमस्ते लंदन (मनमोहन)

2007-- ओम शांति ओम (विशेष उपस्थिति)

2007-- सांभर सालसा (ओम सूरी)

2008-- थोडा प्यार थोडा जादू (विशेष उपस्थिति)

2008-- हल्ला बोल (ऋषि कपूर)

2009-- लक बाय चांस (रोमी रोली)

2009-- चिंटू जी (चिंटूजी)

2009 - दिल्ली -6 (अली बेग)

2009-- लव आज कल (वीर सिंह)

2009-- कल किसने देखा (सिद्धार्थ वर्मा)

2010-- सदियान (राजवीर सिंह)

2010-- दोनी चर (संतोष दुग्गल)

2011-- पटियाला हाउस (गुरतेज सिंह कहलों)

2011-- मुझे ओ कहुदा (अल्ताफ जरदारी) बताओ

2012-- अग्निपथ (रऊफ लाला)

2012-- स्टूडेंट ऑफ़ द इयर (योगिंदर वशिष्ठ)

2012-- हाउसफुल 2 (चिंटू कपूर)

2012-- जब तक है जान (इमरान)

2013-- चश्मे बद्दूर (जोसेफ फर्टाडो)

2013-- औरंगजेब (रविकांत)

2013-- डी-डे (इकबाल सेठ)

2013-- बेशरम (चुलबुल चौटाला)

2013-- शुद्ध देसी रोमांस (गोयल)

2014-- बेवाकोफ़ियायन (वी। के। सहगल)

2015-- ऑल इज़ वेल (भजनलाल भल्ला)

2015-- वेडिंग पुलाव (लव कपूर)

2016-- सनम रे ("दद्दू")

2016-- कपूर एंड संस (अमरजीत कपूर)

2017-- पटेल की पंजाबी शदी (गुग्गी टंडन)

2018-- 102 नॉट आउट (बाबूलाल वखारिया)

2018-- मुल्क (मुराद अली मोहम्मद)

2018-- राजमा चावल (राज माथुर)

2019-- झूठा कहिन का (वरुण के पिता)

2019-- द बॉडी

2020-- शर्माजी नमकीन (आखिरी फिल्म जब वह मरने से पहले शूटिंग कर रहे थे)

Comments